क्या आपको पता है क्यो मानते है वैलेंटाइन डे ? आपकी सोच गलत है।

वैलेंटाइन डे क्यों मानते है जानिए इसके पीछे के रोमांचक कारण 

वर्तमान में वैलेंटाइन डे को प्रेमी दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस दिन प्रेमी जोड़े एक दूसरे को उपहार देते है और अपने प्रेम का इजहार करते है। मगर आपको पता है की इस दिन को क्यों मनाया जाता है और इसके पीछे की कहानी क्या है।

Valentine's Day when and why it is celebrated
www.healthunbox.com


आज कल लोग इस दिन का साल भर इंतजार करते है और इस दिन अपने प्यार को प्रपोज करते है। valentine day को आज पूरी दुनिया में मनाया जाता है। valentine day से पहले valentine week मनाया जाता है जिसमें हफ्ते के सातों दिन का अलग अलग महत्व होता है।

तो आइये जानते है वैलेंटाइन डे मनाने के पीछे के कारण के बारे में दरअसल इस दिन के मनाए जाने के बारे में दुनिया की कुछ अलग अलग कहानी आपके लिए उपलब्ध है।

वैलेंटाइन डे कब से और क्यों मनाया जाता है? Valentine's Day when and why it is celebrated

रोम में एक त्योहार मनाया जाता है जिसका नाम है लुपर्केलिया (Lupercalia) इस दिन को रोम के खेती के देवता लुपर्कालिया को समर्पित किया गया है। यह त्योहार 13 से 15 फरबरी तक मनाया जाता है। लोग बिल्ली और कुत्तों की बलि देते है। इसके बाद इनकी खाल को खून में सानकर आने जाने वाले लोगो को इससे मारते है। 
गर्भबती महिलाए और बांज महिलाए खुद से मार खाने के लिए अपना हाथ आगे कर देती है। इस त्योहार के दौरान एक मंगनी लॉटरी भी निकाली जाती है जिसमें पुरुष एक जार से महिलाओं के नाम बाली पर्ची निकारलाते है जिसका नाम निकलता है उससे उसकी शादी कर दी जाती है।


वैलेंटाइन डे कब से और क्यों मनाया जाता है? दूसरी कहानी 

दूसरी कहानी भी रोम से जुड़ी है ऐसा माना जाता है की वैलेंटाइन डे नाम एक कैथोलिक पादरी सेंट वैलेंटाइन के नाम पर रखा गया है। जो रॉम में रहते थे उस समय का राजा claudius था जिसका साम्राज्य बहुत शक्तिशाली था। इसीलिए उसे एक बहुत बड़ी सेना की जरूरती थी। 
मगर लोग उसकी सेना में भर्ती नहीं हो रहे थे जब राजा ने इसकी खोज कारवाई तो पाया की लोगो के बीबी और बच्चो की बजह से लोग उसकी सेना में भर्ती नहीं हो रहे है। इसीलिए राजा ने शादियों पर रोक लगा दी।
राजा का यह फैसला किसी को रास नहीं आया मगर राजा के फैसले को विरोध कोई नहीं कर पाया। 
पादरी सेंट वैलेंटाइन भी इससे खुश नहीं थे कुछ समय बाद पादरी के पास एक प्रेमी जोड़ा आया अपनी शादी करवाने तो पादरी सेंट ने उनकी शादी चोरी छिपे करवा दी मगर राजा को इसकी भनक लग गई और राजा ने पादरी सेंट वैलेंटाइन को मौत की सजा सुना दी। 
तब से उनके नाम पर इस त्योहार को मनाया जा रहा है।


वैलेंटाइन डे कब से और क्यों मनाया जाता है? संत वैलेंटाइन की कहानी 


संत वैलेंटाइन एक पुजारी थे जब तीसरी शताब्दी में रोमन सम्राट क्लॉडियस गोथिकस ने शादियों पर पाबंदी लगा दी थी तब संत वैलेंटाइन अविवाहित लोगो की शादी छुपकर करबया करते थे जब इसकी खबर राजा को लगी तो उन्होने संत वैलेंटाइन को मौत की सजा सुना दी थी तभी से लोग इस त्योहार को माना रहे है। 

इतिहास में ऐसी बहुत सी और कहानी दर्ज है जो अलग अलग प्रकार की है। मगर सही कौन सी है किसी को नहीं पता। 


उम्मीद है आपको यह लेख पसंद आया होगा हमें कमेंट में जरूर बताए। 


No comments:

Powered by Blogger.